Telegram एनालिटिक्सTelegram एनालिटिक्स
392.0

❣️ʜᴇᴀʀᴛ ᴛᴏᴜᴄʜɪɴɢ🍃💞

जीवन में सिर्फ वहाँ तक ही “झुकना” चाहिए, जहाँ तक सम्बन्धों में “लचकता” और मन में “आत्म सम्मान” बना रहे. बता दे तेरी एक खुशी ज़िंदगी लुटा दंगे तुझे हँसाने के लिए @Sumityad @HindiDayari 🌹🌺ʝąąɬ ŋą ℘ųƈɧơ ℘ཞɛɱ ƙı 🌺🌹

में खुलेगा Telegram

संबंधित समुदाय